ALL ग्वालियर संभाग राष्ट्रीय बिग ब्रेकिंग भोपाल संभाग उज्जैन संभाग जबलपुर संभाग सागर संभाग नर्मदापुरम संभाग इन्दौर संभाग CRIME NEWS
आधार कार्ड मे संशोधन के लिए 200 से 500 रुपए तक का शुल्क जबरन वसूला जा रहा .... जिला मुख्यालय पर एक सेंटर कर रहा मनमानी वसूली...
May 24, 2020 • महेश मावले (सम्पादक) 9407505550 • इन्दौर संभाग

हरदा । जिले के 18 आधार सेंटर मे से 16 सेंटर बंद, मात्र 4 चालू जिला मुख्यालय मात्र 1 आधार सेंटर के भरोसे हरदा जिले के अधिकतर आधार सेंटर बंद है, जबकि uidai 28/04/2020 को ही आधार सेंटर शुरू करने की अनुमति दे चुका है, जिसके संदर्भ मे जिला कलेक्टर द्वारा 13 मई को आधार सेंटर शुरू करने के लिए आदेश भी दिये जा चुके है जिनका पालन जिला ई गवर्नेंस सोसाइटी के प्रबंध द्वारा नही कराया जा रहा है I शासन की कई महत्वपूर्ण योजनाओ मे आधार की आवश्यकता होती है जिसमे नवीन आधार पंजीयन अलावा आधार मे त्रुटि सुधार की अधिक आवश्यकता है जिला कलेक्टर द्वारा आधार सेंटर शुरू करने के लिए आदेश दिये हुए 1 सप्ताह हो जाने के बाबजूद भी अधिकतर आधार सेंटर चालू नही हो सके, जिसकी आड़ मे वर्तमान मे चालू आधार सेंटर द्वारा आम नागरिकों से मनमाना शुल्क वसूला जा रहा है, जिस ओर ज़िम्मेदार अधिकारी ध्यान नही दे रहे है । UIDAI नियमानुसार कोई भी आधार सेंटर शासकीय कार्यालय या बैंक के अंदर ही संचालित किया जा सकता है फिर भी पंजाब नेशनल बैंक का आधार सेंटर बैंक के बाहर संचालित किया जा रहा जहां पर, अन्य आधार सेंटर चालू न होने की वजह से लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर आधार कार्ड मे संशोधन के लिए 200 से 500 रुपए तक का शुल्क जबरन वसूला जा रहा है , जबकि इसके लिए शासन द्वारा 50 व अधिकतम शुल्क 100 रुपए निर्धारित है I यदि सभी आधार सेंटर सुचारु रूप से कार्य करेंगे तो लोग इस तरह के भ्रष्टाचार से बच सकेंगे अन्य कोई आधार सेंटर न होने के कारण लोगो को मजबूरन अधिक शुल्क चुकाना पड़ रहा हैI पंजाब नेशनल बैंक के जिम्मेदार अधिकारियों का भी इस ओर ध्यान नही है, जबकि जिले की सीमा मे यदि कोई आधार सेंटर शासकीय कार्यालय के बाहर चल रहा है तो इसकी जबाबदारी जिला प्रशासन की है, जिस पर कार्यवाही कर आधार मशीन जप्त कर, संबंधित बैंक व UIDAI को सूचित किया जाना चाहिए , ताकि उक्त आपरेटर पर UIDAI द्वारा आधार एक्ट 2016 की धारा 26 के तहत कार्यवाही कर आपरेटर को अधिकतम 5 साल के लिए ब्लेक लिस्ट व 1,00,000 रुपए तक के जुर्माना लगाया जा सकता है जिला ई गवर्नेंस सोसाइटी के प्रबंध की इन्ही लापरवाही के चलते, UIDAI द्वारा स्वयं OBD सर्वे करने पर दो आपरेटर भ्रष्ट आचरण मे लिप्त पाये गये जिन्हे मार्च 2020 मे ब्लैक लिस्ट किया गया जिनमे एक जिला पंचायत हरदा व एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हँडिया का है सेंटर है I विगत वर्ष भी चार आपरेटर ब्लैक लिस्ट किए जा चुके है I जबकि हरदा जिले की कई तहसीलो में आधार सेंटर की संख्या आवश्यकता से काफी कम है, जिनकी संख्या बढ़ाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रयास किया जाना चाहिए बंद पड़े आधार सेंटर के आपरेटर से बात करने पर उन्होने बताया की उनके द्वारा सेंटर पुनः शुरू करने के लिए जिला ई गवर्नेंस सोसाइटी क्लेक्ट्रेड मे आवेदन किया जा चुका है । तहसील। कुल सेंटर चालू सेंटर हरदा। 6 1 खिरकिया। 7 2 सिराली। 1 0 रहटगाँव। 2 1 टिमरनी।। 1 0 हँडिया। 1 0 हरदा जिले से मुईन अख्तर खान