ALL ग्वालियर संभाग राष्ट्रीय बिग ब्रेकिंग भोपाल संभाग उज्जैन संभाग जबलपुर संभाग सागर संभाग नर्मदापुरम संभाग इन्दौर संभाग CRIME NEWS
अनलॉक-1 के दिशा-निर्देश एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह जी चौहान की भावना के अनुशरण में विवाह-निकाह की अनुमति जारी करें-पूर्व मंत्री अर्चना दीदी*
June 4, 2020 • महेश मावले (सम्पादक) 9407505550 • इन्दौर संभाग

बुरहानपुर-( मेहलका अंसारी) मध्यप्रदेश की पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस (दीदी) ने अनलॉक-1 के दिशा-निर्देश एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह जी चौहान की भावना के अनुशरण में विवाह-निकाह अनुमति जारी करने की बात कही और इस संबंध में कलेक्टर बुरहानपुर को पत्र लिखकर अनेक सुझाव दिए। श्रीमती चिटनिस ने कहा कि बुरहानपुर विधानसभा एवं जिला क्षेत्र के विवाह योग्य युवक-युवतियों के विवाह की अनुमतियां जिला प्रशासन द्वारा सरकार द्वारा अनलॉक-1 के दिशा-निर्देशों के अनुसार एवं प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री माननीय श्री शिवराजसिंह जी चौहान के भावना अनुरूप प्रदान की जाए। मुख्यमंत्री जी ने तत्संबंध में न्यूनतम 10 से अधिकतम 50 लोगों की उपस्थिति में वैवाहिक कार्यक्रम लॉकडाउन के दौरान संपन्न कराए जाने की घोषणा की है। बुरहानपुर नगर में गायत्री माता मंदिर संजय नगर, गुप्तेश्वर मंदिर मोहना संगम बोहड़ला, गुप्तेश्वर मंदिर खड़कोद, गणपति मंदिर उद्योग नगर, महादेव मंदिर बहादरपुर, मनोकामना शिव मंदिर किला रोड एवं दत्तात्रय मंदिर गीतादत्त नगर इत्यादि स्थान नगरीय क्षेत्र से लगे हुए हैं। इनका प्रबंधन भी व्यवस्थित रूप से पुजारीगण एवं नागरिकों द्वारा किया जा रहा है। विवाह के दौरान लगने वाले आवश्यक पात्र बर्तन-पूजा सामान इत्यादि इन स्थानों पर लगभग उपलब्ध है। वैवाहिक जीवन में बंधने वाले वर-वधु के परिवारों से न्यूनतम शुल्क लेकर इन स्थानों का प्रबंधन कुशलतापूर्वक विधि-विधान से वैवाहिक कार्यक्रम करवाने में पारंगत है। इसी प्रकार अल्पसंख्यक समाज द्वारा भी मुख्य मस्जिदों में निकाह (विवाह) संपन्न कराए जाते है, जहां संपूर्ण व्यवस्था रहती है। जिला प्रशासन मात्र अनुमति देकर संबंधित थाना क्षेत्रों को इस संबंध में सूचना देकर कार्यक्रम की निगरानी व नियमों का परिपालन करवा सकता है। श्रीमती अर्चना चिटनिस ने कहा कि प्रषासन द्वारा किन्ही स्थल विषेष के लिए आग्रह कर उन्हीं स्थानों पर विवाह संपन्न कराने हेतु अनुमति प्रदान करना सर्वथा अनुचित है। अतः तत्संबंध में सोशल डिस्टेंसिंग एवं अन्य प्रचलित नियमों के अनुपालन की शर्तों के साथ विवाह अनुमतियां जारी करें।