ALL ग्वालियर संभाग राष्ट्रीय बिग ब्रेकिंग भोपाल संभाग उज्जैन संभाग जबलपुर संभाग सागर संभाग नर्मदापुरम संभाग इन्दौर संभाग CRIME NEWS
बिरले से इंसान हैं नये सम्भागायुक्त श्री डाॅ. पवन कुमार शर्मा , इन्दौर संभागायुक्त पद पर किया पदभार ग्रहण
June 8, 2020 • महेश मावले (सम्पादक) 9407505550 • इन्दौर संभाग

आज के इस दौर में किस के साथ ईमानदार शब्द जोड़ना बेमानी होगी ! किन्तु डाॅ पवन कुमार शर्मा मध्यप्रदेश के उन आईएएस में शामिल हैं जिनकी गिनती आज भी ईमानदार आईएएस में गिनी जाती है। ईमानदार है तो निश्चित रूप से इंसान अड़ियल भी होगा... ग्वालियर नगर निगम कमिश्नर रहते हुए टेक्स जमा करने के लिये देश के सबसे बड़े अखबार, सिंधिया स्कूल को नोटिस जारी कर दिया.... सबसे ज्यादा अवैध बिल्डिंग ग्वालियर में गिरायी.... पवन शर्मा के गनमेन ने सराफा बाजार में किसी से बत्तमीजी कर ली और शिकायत पवन शर्मा तक पहुंची तो इन्होंने गनमेन की सेवाये तत्काल उनके विभाग को सौप दी.... चूंकि गनमेन का घर आना जाना था इसलिए उसने शर्मा जी के पिताजी से मिलकर सिफारिश करा दी, तो पवन शर्मा ने पिता को कहा कि में आपका बेटा हूं, मेरे व्यक्तिगत हर फैसले पर आपका हक है और मैं ताउम्र आपकी बिना राय के कुछ नही करूँगा, यह पापा मेरा आपसे वादा है, पर निगम कमिश्नर और सरकारी सेवाओं पर नहीं, पिताजी वहाँ में सरकारी मुलाजिम हूं.... पिता ने कहा मुझे ऐसे बेटे पर गर्व है...पवन शर्मा के पिता बेहद ईमानदार शिक्षक रहे.... पत्नी डॉक्टर है.... स्वभाव ऐसा की अगर चपरासी के विवाह समारोह की पत्रिका भी आई तो शामिल हो जाएंगे.... ग्वालियर में प्रॉपर्टी टैक्स को लेकर 32 लोगो ने पीआईएल लगायी तो जज ने जवाब मांगा, उन्होंने कहा कि ये 32 लोग ही प्रॉपर्टी टैक्स खुद ही नही भर रहै है.... न्यायालय ने उनसे टेक्स जमाकर रसीद प्रस्तुत करने को कहा..... क्रिकेट के शौकीन हैं.... ग्वालियर में पत्रकारों और प्रशासन का मैच शनिवार को था किंतु दमोह कलेक्टर तबादला हो गया, मैच छोड़ना नही चाहते थे.... संभाग आयुक्त कोमलसिंह शुक्रवार को ही एकतरफा रिलीव करना चाहते थे.... उन्होंने ग्वालियर कलेक्टर राकेश श्रीवास्तव को कहा एक तरफा करे या दोतरफा शनिवार को मैच खेलकर सोमवार चला जाऊंगा... मैच भी हुआ और रिलीव भी... रतलाम पदस्थापना के दौरान इनका बंगला जो सीईओ का था, कलेक्टर ने एसपी को अलाट कर दिया.... पवन शर्मा ने कलेक्टर को कहा, पर कलेक्टर ने इनकी बात नही मानी.... तब मुख्य सचिव से मिलने के लिए चिट्ठी लिखी.... मुख्य सचिव ने समय देकर मिलने बुलाया, लेकिन जब भोपाल पहुंचे तो मुख्य सचिव वहाँ नही थे। कुछ देर इन्तजार करने के बाद शर्मा जी पत्र लिखकर पीए के पास छोड़ आये "में इस बेच का आईएएस अफसर हूं, आप मुख्य सचिव से मुझे उम्मीद नही थी कि मेरे सीनियर से मुझे यह भी सीखने को मिलेगा कि समय देने के बाद भी नही मिलना".... तत्काल ढूंढा गया, और 24 घण्टे में वही बंगला अलाट हुआ, फिर एसपी से कहा कि अब आप चाहे तो रह सकते हैं इस बंगले में.... कुल मिलाकर ईमानदार किन्तु भिड़ने वाले आईएएस है पवन कुमार शर्मा.... राघवेंद्र सिंह खिलाड़ी है सो उनसे दोस्ती है..... ख़ास बात ये कि पत्रकारो और छपास से दूर हैं..... साभार-अग्निब्लास्ट न्यूज़ अपडेट