ALL ग्वालियर संभाग राष्ट्रीय बिग ब्रेकिंग भोपाल संभाग उज्जैन संभाग जबलपुर संभाग सागर संभाग नर्मदापुरम संभाग इन्दौर संभाग CRIME NEWS
कलेक्टर बुरहानपुर ने दी औद्योगिक इकाइयों के संचालन की अनुमति
May 31, 2020 • महेश मावले (सम्पादक) 9407505550 • इन्दौर संभाग

* बुरहानपुर(मेहलका अंसारी) जिला बुरहानपुर में औद्योगिक संचालन में स्थित औद्योगिक इकाईयों को टेक्टसाईल्स प्रोसेसर्स ऐसोसिएशन द्वारा कार्य प्रारंभ करने की अनुमति चाही गई है। कोरोना वायरस संक्रमण महामारी की लॉकडाउन अवधि में भारत सरकार गृह मंत्रालय के परिपत्र संदर्भ में कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री प्रवीण सिंह द्वारा निम्नांकित शर्तो के अध्याधीन प्राप्त सूची अनुसार इकाई प्रारंभ करने अनमुति प्रदान की गई है:- 1. ईकाई को अधिकतम 30 प्रतिशत स्टॉफ/श्रमिक के साथ करना सुनिश्चित करेंगे। 2. ईकाई में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाना अनिवार्य होगा। 3. सभी कर्मचारी/श्रमिक मास्क लगायेगें तथा आवश्यक सुरक्षा उपाय सुनिश्चित करेंगे। 4. ईकाई में कार्य करने वाले समस्त स्टॉफ/श्रमिक के रूकने, खाने, पीने की व्यवस्था जहां तक संभव हो ईकाई परिसर में ईकाई स्वामी द्वारा की जायेगी। 5. ईकाई में कार्यरत् कर्मचारियों/श्रमिकों की चिकित्सा जांच कराना आवश्यक होगा। 6. ईकाई में कार्यरत कर्मचारी/श्रमिकों का कार्य करने के दौरान आकस्मिक स्वास्थ्य खराब होता है तो तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों में ले जाकर स्वास्थ्य परीक्षण की समस्त जवाबदारी ईकाई के स्वामी की होगी। 7. इकाई में कंटेनमेंट एरिया से इकाई स्वामी/स्टॉफ/श्रमिका का आवागमन पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। 8. स्थानीय स्तर पर उपलब्ध श्रमिकों की ईकाई में नियोजित करने में प्राथमिकता देना होगा। 9. ईकाई में सैनिटाईजर का उपयोग करना अनिवार्य रहेगा तथा श्रमिकों को हाथ धोने के लिये साबुन की व्यवस्था करना अनिवार्य होगा। 10. ईकाई में 50 वर्ष से अधिक उम्र के कर्मचारी/श्रमिकों का आना प्रतिबंधित रहेगा। 11. ईकाई की गठित दल द्वारा सुरक्षा संबंधी जांच समय-समय पर की जायेगी। 12. ईकाई के पास ईकाई परिसर में स्टॉफ/श्रमिकों के टेम्प्रेचर स्क्रीनिंग उपकरण से प्रतिदिन जांच किया जाना आवश्यक होगा एवं एम.एच.ए.की गाईडलाईन के निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री प्रवीण सिंह ने निर्देशित किया है कि उपरोक्त शर्तो का उल्लघंन करने पर यह अनुमति स्वतः निरस्त मानी जायेगी एवं वैद्यानिक कार्यवाही की जायेगी।