ALL ग्वालियर संभाग राष्ट्रीय बिग ब्रेकिंग भोपाल संभाग उज्जैन संभाग जबलपुर संभाग सागर संभाग नर्मदापुरम संभाग इन्दौर संभाग CRIME NEWS
कॉलोनाइजर कर रहे आमजन का गहन शोषण सुविधाओं के नाम पर असुविधाओं का आलम.... अवैध कालोनी में बनाया मकान जाने के लिए तवा कालोनी से बनाया अवैध रास्ता
June 10, 2020 • महेश मावले (सम्पादक) 9407505550 • इन्दौर संभाग

टिमरनी( हरदा) // टिमरनी एस डी एम कार्यालय से लगी हुई सिचाई विभाग की तवा कालोनी में कार्यरत एक इंजीनियर ने तवा कालोनी के पीछे बनी अवैध कालोनी में प्लाट खरीदकर उसमे मकान बना लिया वही अपने मकान तक पहुचने के लिए अपने पद व पहुच का फायदा उठाकर तवा कालोनी से अपने घर जाने के लिए रास्ता भी बना लिया जो कि पूर्णतः अवैध रास्ता है जिसकी कोई परमिशन विभाग द्वारा नही दी गई है यह है मामला स्थानीय नहर विभाग में वर्षो से कार्यरत इंजीनियर रविन्द्र यदुवंशी ने करीब आठ दस साल पहले तवा कालोनी से लगी जैन परिवार की अवैध कालोनी में चौबीस सो स्केयर फिट के करीब प्लाट खरीद लिया और करीब पांच वर्ष पहले ही इंजीनियर यदुवंसी ने उस पलाट पर भव्य मकान बना लिया और अपने परिवार के साथ निवास कर रहे है वही सरकारी सिंचाई विभाग के इंजीनियर होने के कारण उन्होंने अपने पद का दुरपयोग करते हुए अपने मकान तक पहुचने के लिए सरकारी क्वार्टर के साइड से रास्ता बना बना लिया जबकि इंजीनियर को यह बात मालूम है कि यह कालोनी अवैध है और यहाँ कहा से आने जाने का रास्ता मिलेगा सब सोच समझकर ही प्लाट खरीदना था लेकिन अपने पद व पावर के कारण उन्होंने यह सब नही सोचा जिस कालोनी में न ठीक ढंग की रोड़ हो न नाली हो न पार्क हो न ठीक बिजली व्यवस्था हो ऐसी अवैध कालोनी2 में कोई समझदार सरकारी नोकरी करने वाला जिम्मेदार अधिकारी ही जब ऐसी गलतिया करेंगे तो आम आदमी को कैसे रोक पाएंगे जहाँ ऐसे कालोनी नाइजर लोगो को महंगे दामो पर प्लाट बेच देते है और कोई सुविधा नही देते है और शासन को भी लाखों करोड़ों के राजस्व का नुकशान करते है जिस में भोले भाले लोग कालोनी नाइजर की मीठी मीठी बातो में आकर प्लाट खरीद लेते है और फिर बाद में पछतावा करते है लेकिन पड़े लिखे समझदार सरकारी नोकरी पेशा अधिकारियों कर द्वारा ही जब ऐसे काम किये जाते हो जो शासन की नजरों में अवैध हो तो फिर इस देश का क्या होगा सरकार हमेशा लोगो से अवैध कालोनियों में प्लाट नही लेने के सन्देश देती रहती है लेकिन शासन में कार्यरत कुछ नुमाइंदे जब शासन व सरकार की नही सुनते तो आम आदमी को क्या पड़ी है पूर्व में भी मीडिया ने उक्त अवैध कालोनी के अवैध रास्तो व अवैध कालोनी को लेकर खबरे प्रमुखता के साथ प्रकाशित की थी लेकिन जब सरकारी कर्मचारियों के ही मकान कालोनी में बने हो तो क्या कार्यवाही होगी वही कुछ कालोनीवासियों का कहना है कि सरकारी तवा कालोनी से दो रास्ते जैन कालोनी में जाने के लिए बना लिए गए है जिसके कारण बाहरी लोगों के आने जाने व अनजान लोगों का आना जाना बहुत बड़ गया है जिससे कभी कभी असुरक्षित महसूस होता है चूंकि कालोनी में जाने के कालोनी नाइजर ने नहर की पगडण्डी पर से रोड बना ली है फिर भी कालोनी के बीच से होकर गुजर रहे दो रास्तो पर अधिकारी क्या कार्यवाही करेंगे यह तो वक्त ही बताएगा लेकिन हा अगर कोई कार्यवाही नही होती है तो हर आदमी अवैध जगहों कालोनियों में प्लाट खरीदकर सरकार व शासन से सुविधाओ की मांग कर करके परेशान जरूर किया करेंगे जब इस मामले में कालोनी नाइजर यश जैन से उनका पक्ष जानना चाहा तो चार बार फोन लगाने पर भी उन्होंने फोन रिसीव नही किया कई अधिकारियों ने खरीदे है प्लाट उक्त अवैध कालोनी में जाने के लिए कई विभागों के सरकारी कर्मचारियों व

अधिकारियों ने भी प्लाट ख़रीकर पक्के मकान बना लिए है और सभी लोग इन ही अवैध रास्तो का उपयोग करते है। जबकि नहर के साइड से कालोनी में जाने के लिए रास्ता बना लिया गया है वही मीडिया के द्वारा बार बार जिम्मेदार अधिकारियों को खबर लगाकर जानकारी दी गई है पर अभी तक कार्यवाही शून्य है

अभी में होशंगाबाद जा रहा हूँ शाम को देखकर बताता हूँ एफ के भीमटे कार्यपालन यंत्री हंडिया शाखा नहर संभाग टिमरनी

 

इनका कहना है - अभी वैकल्पिक मार्ग बना कर उपयोग कर रहे है मार्ग बंद होने पर नहर के रास्ते का उपयोग करंगे - आर के यदुवँशी इंजीनियर व प्रभारी एस डी ओ नहर विभाग