ALL ग्वालियर संभाग राष्ट्रीय बिग ब्रेकिंग भोपाल संभाग उज्जैन संभाग जबलपुर संभाग सागर संभाग नर्मदापुरम संभाग इन्दौर संभाग CRIME NEWS
राजगढ़ जिले नहीं थम रही नातरा झगड़ा की प्रथा* *झगड़ा की मांग करने वाले आरोपीगण को न्यायालय ने भेजा जेल
June 15, 2020 • महेश मावले (सम्पादक) 9407505550 • ग्वालियर संभाग

खिलचीपुर । माननीय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी खिलचीपुर ने थाना छापीहेड़ा के अपराध क्रमांक 117/20 में धारा 387 भादवि में आरोपीगण मांगीलाल पिता नन्दराम एवं आरोपी नन्दराम पिता भंवरलाल निवासी ब्यावराकलां थाना खिलचीपुर जिला राजगढ का जमानत आवदेन निरस्त कर दिया है। घटना की जानकारी देते हुए सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी मथुरालाल ग्वाल ने बताया कि दिनांक 03.06.2020 को फरियादी कंवरलाल ने आरक्षी केन्द्र में उपस्थित होकर रिपोर्ट लेखबद्ध कराई कि उसने अपनी लडकी का रिश्ता ग्राम ब्यावराकला थाना खिलचीपुर के नंदराम दांगी के लडके मांगीलाल से किया था और लडकी की पढाई पूरी करने के बाद शादी की बात करने की बात हुई थी । मगर सगाई के बाद से ही मांगीलाल व नंदराम जल्दी शादी करने के लिये दबाव बनाते रहे। फरियादी ने आरोपीगण से बार बार कहा कि लडकी की पढाई पूरी होने के बाद शादी करेंगे मगर उक्त दोनों आरोपी नहीं माने तथा दिनांक 01.06.2020 को रिस्ता तोडने के लिये गाडाहेड़ा गांव में बुलाया और कहा कि 10 लाख रूपये झगड़ा देकर रिश्ता खत्म कर दो। फरियादी ने स्वयं को झगड़ा देने हेतु सक्षम न बताते हुये झगड़ा देने से मना कर दिया तो आरोपी ने धमकी दी कि यदि झगड़ा नहीं दिया तो नुकसान कर देंगें। उसके बाद में फरियादी अपने रिश्तेदारों के साथ गाडाहेड से आ गया था आज सुबह 10 बजे जब वह छापीहेडा आया तो मुझे उक्त आरोपीगण मिले और दोनों ने कहा कि ‘‘तुम झगडा के रूपये दे दो नहीं तो मैं तुम्हारे गांव में आग लगाकर नुकसान कर देंगे।‘‘ कंवरलाल द्वारा झगड़ा के पैसे देने से मना किया गया तो दोनों ने धमकी दी कि ‘‘अब देखना तेरे गांव में क्या होता है‘‘ और धमकी देकर बोले 10 लाख रूपये नहीं दिये तो हम तेरे को या तेरे परिवार में से किसी को जान से भी खत्म कर सकते है। फिर दोनों चले गये। जिस पर आरक्षी केन्द्र छापीहेड़ा में अपराध कायम कर विवेचना में लिया गया। उक्त प्रकरण में आरोपीगणों ने जमानत हेतु न्यायालय के समक्ष आवेदन प्रस्तुत किया था। जिस पर अभियोजन की ओर से सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री मथुरालाल ग्वाल खिलचीपुर जमानत का विरोध किया गया। एडीपीओ श्री मथुरालाल ग्वाल के तर्कों से सहमत होते हुये माननीय न्यायालय द्वारा आरोपीगण मांगीलाल व नंदराम की जमानत खारिज कर आरोपीगण को जेल भेज दिया। ...................................................