ALL ग्वालियर संभाग राष्ट्रीय बिग ब्रेकिंग भोपाल संभाग उज्जैन संभाग जबलपुर संभाग सागर संभाग नर्मदापुरम संभाग इन्दौर संभाग CRIME NEWS
सायबर ठगों ने कोरोना महामारी को भी बनाया ठगी का हथियार शहर के कई पार्षद झांसे में आए और उनके खातों से निकल गए हजारों सीबीएसई परीक्षाओं में पास कराने के लिए भी पालकों के पास आ रहे ठग के फोन एसपी की अपील ठगों के झांसे में ना आएं शहरवासी
June 4, 2020 • महेश मावले (सम्पादक) 9407505550 • इन्दौर संभाग

खंडवा- कोरोना महामारी को भी जालसाजों ने कमाई का जरिया बना लिया है। इसके पहले प्रधानमंत्री राहत कोष की फर्जी आईडी बनाकर रकम ऐंठने के मामले सामने आ चुके हैं। वही सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाओं में पास कराने के लिए रूपए मांगने के भी फर्जी काल जैसे मामले लगातार सामने आ रहे है। सायबर ठगो ने अब जनप्रतिनिधियों को भी अब निशाना बनाते हुए ठगी का शिकार बना लिया है। एक महीने पहले जहां कुछ पार्षद ठगी का शिकार हो चुके थे। वही गुरूवार को फिर फोन आने पर अपने साथ ही हुई ठगी की शिकायत लेकर भाजपा के तीन पार्षद एसपी आफिस पहुंचे जहां उन्होने जिला पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह के समक्ष अपनी आपबीती सुनाई। समाजेसवी एवं पार्षद सुनील जैन ने बताया कि केंद्र सरकार की ओर से सैनिटाइजर और मास्क बांटे जाने का बजट पाने के झांसे में आकर तीन पार्षदों के साथ हजारों रुपये की ठगी हो गई। साइबर ठगों ने सचिवालय का अफसर बनकर बारी-बारी से तीनों को फोन किया और खातों का ब्योरा ले लिया। झांसे में आए पार्षदों ने ओटीपी भी बता दिया। इसके बाद खातों से रकम पार होने पर होने ठगी का पता चला। समाजसेवी जैन ने बताया कि सबसे पहले पार्षद पदमकुंड वार्ड की पार्षद शारदा आव्हाड़ के पास दिनांक 03/6/2020 को सचिवालय के नाम से मोबाईल नंबर 9007161869 से दीपक कुमार शर्मा फोन आया। फोन करने वाले ने खुद को पीएमओ सचिवालय का अफसर बताकर 25 हजार रुपये का बजट आने का झांसा दिया। इसके बाद खाते एवं एटीएम की जानकारी लेकर पार्षद शारदा आव्हाड़ के खाते से 3100 रूपए की राशि निकाल ली। इसके पूर्व जालसाज ने कांग्रेस के पार्षद सिद्दीक पटेल के पास भी इस प्रकार का फोन लगाकर 2500 रूपए की ठगी की थी। पार्षद ने जालसाज की बातों में आकर अपनी बेटी के मोबाईल नंबर पर आए ओटीपी नंबर को बता दिया। जिसके बाद उनके खाते से भी राशि निकल गई। जालसाज की ठगी का सिलसिला यही नही थमा। जालसाज ने अपने जाल में खंडवा के पार्षदों को आसानी से आते देख अन्य पार्षदों को भी इस प्रकार फोन लगाया। जालसाज का फोन समाजसेवी एवं पार्षद सुनील जैन के पास भी आया तो उन्होने जालसाज की चाल को समझकर जानकारी देने से मना कर दिया। इसी प्रकार का एक फोन लोकमान्य तिलक वार्ड के पार्षद संदेश गुप्ता के पास आया तो उन्होने कोई जानकारी नही दी। इस प्रकार के मामले बढ़ने पर पार्षदों ने एसपी आफिस पहुंचकर शिकायती आवेदन देते हुए मांग की उक्त ठग को शीघ्र अति शीघ्र गिरफ्तार किया जाए। सायबर अपराध की शिकायत मिलने पर एसपी विवेक सिंह ने कहा कि इस प्रकार के मामले लगातार सामने आ रहे है। सायबर एक्सपर्ट की टीम मामले की सूक्ष्मता से जांच की जा रही है। शीघ्र ही ठगी करने वालो को पकड़ा जाएगा। शहरवासियो से भी अनुरोध है कि वे किसी भी अन्य व्यक्ति को मोबाईल पर अपने बैंक खातो एवं पिन नंबर की जानकारी न देवें । परीक्षा मेें पास कराने के लिए भी आ रहे फोन वही संजय नगर निवासी हेमलता राठौर पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंची और अपने पुत्र प्रबुध्द राठौर जो कि संत पायस स्कूल में कक्षा दसवी में है उसे नंबर बढ़ाने के लिए फोन आया कि यदि आप 10 हजार रूपए दे देंगे तो आपका बच्चा पास हो जाएगा। लगातार दो दिनों से फोन आने पर उक्त महिला सायबर सेल शिकायत करने पहुंची।